तीन तलाक़ पर नहीं लगा है प्रतिबंधित , अब भी मान्य है तीन तलाक Triple talaq not banned

तीन तलाक पर फैसला आने के बाद लोगो के मन में बहुत सी गलत फैमिया पैदा हो रही हैं , जिसकी वजह मीडिया है जो सही तरीके से बात को नहीं बता रहा है ! कुछ लोग समझ रहे है तीन तलाक बंद हो गया तो कुछ समझ रहे हैं तलाक ही प्रतिबंधित हो गया है , कुछ मीडिया वाले कह रहे हैं 1400 साल पुराना कानून बंद हो प्रतिबंधित हो गया , तो कुछ इसे इतिहास बदलने वाला फैसला मन रहे हैं

आदरनिये सुप्रीम कोर्ट का शुक्रगुज़ार होना चाहिए सबको इस बेहतरीन फैसले के लिए 

तलाक को बैन नहीं किआ गया है बल्कि 1  बार में तीन तलाक को बैन किआ गया है 

एक एक महीने पर अगर एक एक तलाक दिया जाये तो 3 महीने में तीन तलाक पूरा होते ही तलाक हो जायेगा । कोर्ट को इसमें कोई अहतराज़ नहीं है !

मीडिया जिसे इस्लाम के अगेस्ट दिए हुआ फैसला बता रहा वो दर असल इस्लामिक फैसला है ! आखरी पैगम्बर मोहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने भी 1  बार में तीन तलाक को मना और बुरा फ़रमाया , इस फैसले ने दुनिया के सबसे बेहतरीन बादशाह हज़रत उमर बिन खत्ताब की याद दिला दी जिन्होंने 1  बार में तीन तलाक पे सजा मुक़र्रर की थी , बहुत शुक्रिया आदरनिये सुप्रीम कोर्ट का.

इसलिय अलावा आदरनिये सुप्रीम कोर्ट ने साफ साफ कह दिए की धार्मिक मामलो में हस्तक्षेप नहीं होगा या पर्सनल लॉ में कोई बदलाव नहीं होगा ! 

सुप्रीम कोट में क्या कहा गया 

  • > इस्लामिक देशों में तीन तलाक़ पर प्रतिबंध लागू है तो क्या स्वतंत्र भारत क्या इससे मुक्ति नहीं पा सकता?

> कोर्ट ने यह भी कहा था कि जो बात धर्म के मुताबिक़ भी सही नहीं है उसे वैध कैसे ठहराया जा सकता है?

> जस्टिस कुरियन ने कहा कि तीन तलाक़ इस्लाम का हिस्सा नहीं है.

 इस फैसले ने दुनिया के सबसे बेहतरीन बादशाह हज़रत उमर बिन खत्ताब की याद दिला दी जिन्होंने 1  बार में तीन तलाक पे सजा मुक़र्रर की थी , बहुत शुक्रिया आदरनिये सुप्रीम कोर्ट का.

हज़रत उमर बिन खत्ताब के बारे में जाने 

http://www.timesofmuslim.com/2015/12/hazrat-umar-farooq-umer-bin-khattab.html

triple talak banned

loading...