क्या आप भी हर मिनट में करते है अपने कंप्यूटर को Refresh , तो हो जाइये सावधान |

Kya aap bhi har minute me karte hai apne computer ko refresh, to ho jaiye savdhan

ऐसा कई लोग है जो कंप्यूटर का इस्तेमाल करते समय हर मिनट अपने कंप्यूटर रिफ्रेश करते रहते है . क्या आप भी उनमे से एक है तो हर समय अपने माउस पर राइट क्लिक करके अपने कंप्यूटर को रिफ्रेश करते रहते है ? पर अपने कभी सोचा है की कंप्यूटर रिफ्रेश करने से कुछ असर होता है भी या नहीं |

ऐसा मानना है की लग-भग 10 में से 9 कंप्यूटर इस्तेमाल करने वाले लोग हर समय अपना कंप्यूटर को रिफ्रेश करते है फिर चाहे उसे रिफ्रेश करने की ज़रूरत हो या नहीं . इनमे से कई लोग तो ये भी नहीं जानते है की इससे होता क्या है वो तो बस बिना कुछ सोचे समझे इसे रिफ्रेश करते रहते है क्यूंकि उनके आस-पास के लोग अपने कंप्यूटर पर ऐसा करते है और जो जानते है उनका कहना होता है की इससे रैम क्लियर होती है, जिससे कंप्यूटर फ़ास्ट और स्मूथ चलता है | क्या वाकई कंप्यूटर रिफ्रेश करने से रैम क्लियर है जिससे कंप्यूटर फ़ास्ट और स्मूथ चलता है ?

आइये जानते है की कंप्यूटर को रिफ्रेश करने से कुछ होता है भी या नहीं |

वैसे तो आपको ये जानकार थोड़ी हैरानी होगी की कंप्यूटर रिफ्रेश करने से कुछ नहीं होता है | इससे बस आपके डेस्कटॉप के आइकॉन में हरकत होती है. इससे ज़्यादा और कुछ नहीं और जहाँ तक बात है रैम क्लियर की तो कंप्यूटर रिफ्रेश करने से कोई रैम क्लियर नहीं होता और न इससे आपका कंप्यूटर फ़ास्ट और स्मूथ भी नहीं चलता |

ये भी पढ़ेTop News - आपने कभी सोचा है की चाइना के फ़ोन इतने सस्ते क्यों होते है

ये भी पढ़ेअब आप नेट पर जो भी सर्च उसके बदले आपको पैसा मिलेगा , Microsoft की नई स्किम

ये भी पढ़े - अपने लैपटॉप की रैम बढ़ाएं, 5 आसान स्टेप्स में!

अब आप सोच रहे होंगे की जब इससे कुछ होता ही नहीं तो ये रिफ्रेश टूल कंप्यूटर पर होता ही क्यों है | दरअसल ये रिफ्रेश टूल आपके डेस्कटॉप के आइकॉन के लिए होता है जब भी आप अपने डेस्कटॉप के आइकॉन में कोई बदलाव करते है तो उसमे तत्काल कोई बदलाव नहीं होता | इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर रिफ्रेश करना होता है जिससे आपको डेस्कटॉप आइकॉन में किया गया बदलाव दिखने लगता है | अगर आपके डेस्कटॉप आइकॉन एल्फाबेटिकली कर्म में है और आप उसमे एक नया आइकॉन जोड़ते है तो वो उस एल्फाबेटिकली कर्म को छोड़कर सबसे नीचे आ जाता है उसको एल्फाबेटिकली कर्म में लाने के लिए आपको अपने डेस्कटॉप को रिफ्रेश करना होगा जिससे वो उस एल्फाबेटिकली कर्म में आ जाएगा |

अब बात करते है की लोग कंप्यूटर को इतना रिफ्रेश करते क्यों है..

एक रिपोर्ट की माने तो इस रिफ्रेश करने की आदत को कंपल्सिव डिसॉर्डर कहते है . इस बीमारी के शिकार सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि अच्छे-अच्छे कंप्यूटर के जानकार भी होते है | कई लोगो को तो कंप्यूटर रिफ्रेश करने की  इतनी आदत होती है की कंप्यूटर पे काम करते हुए उनकी एक ऊँगली keyboard के F5 बटन पर ही होती है जिसे वो हर 30 में दबाते रहते है |

एक नज़र इसपे भी डाले-  आ गया है सबसे शक्तिशाली "Malware" जिसकी चपेट में अब तक आ चुके है करोड़ों फ़ोन |

इस रिपोर्ट में आगे कहाँ गया तो की अपने कंप्यूटर को रिफ्रेश करना एक नासमझी के सिवा कुछ भी नहीं है, हमे इस आदत को ख़त्म करने की ज़रूरत है अगर आप भी इस रिफ्रेश करने वाली आदत से पीड़ित है तो हम आपको सलाह देंगे की इसी बंद कर दीजिये . इससे सिर्फ आपका समय भी बर्बाद होगा और कुछ नहीं |

 इस वीडियो को भी देखे - कूड़ेदान देगा कूड़े के बदले Free WiFi

computer

loading...