सालो राज करने के बाद मार्केट से क्यों गायब हुए नोकिया फ़ोन्स , 5 बड़ी वजहें

Salo raj karne ke bad market se kyu gayab huye nokia phones: एक समंय हर भारतीय के घर में पाया जाना वाला nokia,आखिर क्यों भरतीये बाजार से गायब हो गया !

nokia को मार्किट से गए करीब 10 साल हो गए अब वो दोबारा भारतीय बाजार में में एंट्री लेने जा रहा है। नोकिया nokia को पिछली बार की तरह इंडियन यूजर्स से इस बार भी अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। पिछले दौर की बात की जाये तो nokia ने भरिये यूजर का दिल जीता था भरते यूजर nokia ब्रांड पर भरोसा करने लगे थे ! इसकी मांग इतनि थी की हर घर में कम से कम एक नोकिया 3310 हुआ करता था। उस दौर में नोकिया के जादू का अंदाज़ा इसी बात से लगया जा सकता है की यूजर ने 3310 रिलॉन्च को भी हाथोंहाथ लिया है। लेकिन मोबाइल फ़ोन की टेक्नॉलोजी अपडेट न हो तो वो ट्रेंड के बाहर हो जाती है। ऐसा ही कुछ nokia के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। nokia जैसे दिग्गज कंपनी के इंडियन मार्केट से बाहर होने की पांच बड़ी वजह ये थीं।

नोकिया यूजर्स डिमांड समझने में नाकाम रहा

उस दौर में जब भारत के हर घर में nokia ने अपनी पैठ बना ली थी फिर भी उसे बाजार से हटना पड़ा ये बात इस बात का सुबूत है कि nokia ने यूजर्स की डिमांड को समझने में देर कर दी। जहां दूसरी कम्पनियां उस दौर में 2जी, 3जी मोबाइल लॉन्च कर रही थीं, nokia ने ऐसा कोई कदम नहीं उठाया । यूजर्स जिसे हर दिन कुछ नए की तलश रहती है नोकिया के हाथ से छुड़ाकर माइक्रोमैक्स, सैमसंग और एलजी जैसी कंपनियों के पास पहुंच गए।

कंपनी के पास कोई नया प्लान न होना

नोकिया के फोन को यूजर्स से जब बहुत ही अच्छा रिस्पॉन्स मिला था, कंपनी उस दौर में स्मार्टफोन पेश करती तो उन्हें भी लोगों को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिलता, लेकिन कंपनी का ऐसे कोई प्लान न होना उसका गायब होने की एक बड़ी वजह बानी । nokia तब भी फीचर फोन में ही उलझा रहा जबकि बाकी कंपनी धड़ाधड़ स्मार्टफोन के साथ मार्केट पर कब्जा करने में सफल रहीं।

सैमसंग की रणनिति

इंडिया में जैसे ही 3G टेक्नॉलोजी आयी सैमसंग ने कई सस्ते स्मार्टफोन लॉन्च किए। ये स्मार्टफोन  की शुरुआत का दौर था, जब लोग स्मार्टफोन से रूबरू हो रहे थे, जिसका फायदा सैमसंग ने अच्छी तरह उठाया और बेहद सस्ते फोन बनाए। इस समय nokia इंडियन हैंडसेट मार्केट से लगभग गायब हो चुका था।

मार्केट कॉम्पिटीशन-

कुछ सालो तक nokia ने इंडिया में राज किया पर उसके बाद सैमसंग जैसे कंपनियों ने भी आपने बाजार मज़बूत किया ! जब और भी कई कंपनियों ने एंट्री ली, तो यूजर्स भी बंटने लगे। अब यूजर्स को कम कीमत में बेहतर से बेहतर स्मार्टफोन खरीदने का कई विकल्प मिल गया । इस दौर में सैमसंग ने यूजर्स को अपने फोन के जरिए इंगेज रखने में कामयाब रहा, पर nokia ऐसा कुछ न कर सका । जहां बाकी कंपनियां एंड्रॉइड फोन ला रही थीं, वहीं नोकिया ने विंडो फोन एक्सपेरिमेंट किया जो यूजर्स को बिलकुल पसंद नहीं आया।

प्राइस कॉम्पिटीशन को समझने में फ़ैल हुआ नोकिया

नोकिया ने अपना बाजार वापस पानी की कोशिश की उसने विंडो फोन के साथ कमबैक किया, लेकिन यूजर्स ने उन फोन को नकार दिया। इसका एक बड़ा कारण फ़ोन्स की कीमत थी जहाँ बाकी कंपनी 2 से 3,000 के बीच स्मार्टफोन लॉन्च कर रही थीं, वहीं नोकिया के फोन की कीमत बहुत ज्यादा थी। nokia के विंडो फोन को यूजर्स ने पूरी तरह नकार दिया। अब एकबार कंपनी फिर से 3310 फीचर फोन और स्मार्टफोन के जरिए कमबैक करने की कोशिश में है और nokia को इंडियन यूजर्स से काफी उम्मीदे हैं।

nokia

loading...