मिलिए एक ऐसे बुज़ुर्ग से जिन्होंने 98 साल की उम्र में मास्टर्स करके रचा इतिहास, युवाओ के लिए बने प्रेरणा श्रोत । 98 year old man get Master degree

कहते कुछ सीखने की कोई उम्र नहीं होती और इसे सच करके दिखया 98 साल के राजकुमार वैश्य ने .. आइये पढ़ते है राजकुमार वैश्य के बारे में जिनसे आज के क्यों बहुत कुछ सीख सकते है .

जिस उम्र में कई लोग जीना छोड़ देते है , जिस उम्र में कई लोगो के अंग काम करना बंद कर देते है , उस उम्र में 98 साल के एक बुज़ुर्ग ने मास्टर डिग्री पूरी की है। इस उम्र में ये कमाल करने  वाले बुज़ुर्ग का नाम है राजकुमार वैश्य जोकि मूल रूप से यूपी के बरेली के रहने वाले हैं लेकिन फ़िलहाल वो अपने बेटे और बहु के साथ बिहार के पटना में रहते हैं।  । इन्होने ये डिग्री नालंदा मुक्त विश्वविद्यालय से प्राप्त करी और ये नालंदा मुक्त विश्वविद्यालय के इतिहास पहली बार ऐसा हुआ की किसी बुजुर्ग ने एमए (अर्थशास्त्र) की डिग्री सफलता पूर्वक प्राप्त की है ।

इसे प्राप्त करते ही राजकुमार वैश्य ने कामयाबी और नौजवानो के लिए प्रेरणा की नई इबारत लिखी दी है । अपनी इस कामयाबी का सेह वो अपने परिवार वालो को देते है , जिसमे खासकर वो अपनी बहु का धन्यवाद करते है जिन्होंने इन्हे पढ़ाया और साथ ही अपने बेटे का भी जिन्होंने इस पढाई में उनकी पूरी मदद की ।एक खबर के मुताबिक 98 वर्षीय राजकुमार वैश्य ने 1938 में  आगरा विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी की थी । इसके बाद उन्होंने  कानून की पढ़ाई की थी पर कही न कही स्नाकोत्तर करने की इच्छा अंदर बनी रही ।  

राजकुमार वैश्य का अपनी इस कामयाबी के बारे में कहना है " मैं इस बात को कहते हुए बड़ा ही खुश महसूस कर रहा हूं कि मेरे बेटे के घर पर पढ़ाई लिखाई करने का बहुत बढ़िया माहौल है। मेरा बेटा और बहू मुझे गणित और स्टेटिस्टिक्स पढ़ाते हैं।"

और जब उनसे इतनी उम्र में मास्टर्स करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा " युवाओं को संदेश देने के लिए उन्होंने इस उम्र में मास्टर डिग्री की। " वह कहते है कि कभी उदास न हों और न ही तनाव में रहें और कभी भी हार न मानें। मौका हमेशा मिलते हैं, उन्हें भुनाने के लिए खुद पर विश्वास करना जरूरी है।

आइये देखते है राजकुमार वैश्य जी की कहानी विस्तार से --

viaFacebook

master degree 98 year old man rajkumar

loading...