मिलिए एक ऐसी लड़की से जिसने महज़ 28 साल की उम्र में ही खड़ी कर दी 60 करोड़ की कंपनी । 28 year old girl create 60 crore company

बचपन में आईएएस बनने का सपना देखा था पर पिता के कारोबार में हुए घाटे ने की वजह से स्कूल तक की पढाई छोड़नी पड़ी थी पर आज इसी लड़की ने महज 28 साल की उम्र में ही 60 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी है। आइये जानते है इस लड़की के बारे में जो आज कई लोगो के लिए बन गई है प्रेरणास्रोत ..

मिलिए जया लक्ष्‍मी फूड्स की डायरेक्‍टर दीपाली सिंह से जिनकी उम्र सिर्फ 28 साल है और इनकी कंपनी टर्नओवर करीब 60 करोड़ रुपए है । पर अपनी कंपनी  को 60 करोड़ रुपए टर्नओवर तक पहुंचाने के लिए दीपाली सिंह ने जी तोड़ मेहनत की है और उनकी इसी मेहनत का नतीजा है की आज वह इतनी कामियाब है ।

दीपाली सिंह ने बचपन में आईएएस बनने का सपना देखा था पर ये सपना तब टूट गया जब 12वीं में पढ़ रही दीपाली के पिता को कारोबार में बहुत घाटा हुआ जिसके बाद वह दीपाली को आगे पढ़ाने में समर्थ नहीं रह गए थे । इस वजह से दीपाली को अपनी आगे की पढाई छोड़नी पड़ी ।

इसे पढ़े  : - माँ की बताई एक अच्छी बात ने, बचाई बरसो की कमाई

पढाई छोड़ने के बाद दीपाली ने ने टिफिन सर्विसेज, हॉस्‍टल, रेस्‍टोरेंट बिजनेस और फिर इंदौर में केपी फूड्स में नौकरी की जिससे वह अपने परिवार को आर्थिक मदद कर सके, वहाँ दीपाली ने खूब मेहनत से काम किया । वही से दीपली को इस कारोबार को जानने में मदद मिली  , दीपाली कहती है की वहाँ उनको बहुत कुछ सीखने को मिला और कई बार में काम करते-करते इतनी खो जाती की मुझे समय का पता ही नहीं चलता था । इसके बाद दीपाली ने अपना कारोबार करने की ठानी । इसके बाद दीपाली ने इंदौर मंडी में कारोबार का लाइसेंस ले लिए ओर लाइसेंस मिलते ही कारोबार भी चल पड़ा । दीपाली ने पहले अपना कारोबार बिना फर्म के चलाया और अपनी नौकरी से बचे कुछ पैसो से उसे आगे बढ़ाया ।

इसे पढ़े  : बेटे को बनाया इंजीनियर पर , खुद को कंकाल होने से न बचा पाई , एक बार पढ़िए ये आपके साथ भी हो सकता है

इस पुरुष प्रधान समाज  में दीपाली ने न सिर्फ अपनी एक अलग पहचान बनाई साथ ही साथ उन्हें इसमें कामयाबी भी मिली । आज दीपाली इंदौर के अनाज तिलहन व्यापार संघ में खुद की फर्म जया लक्ष्‍मी फूड्स से गेहूं का कारोबार कर रही है और साथ ही इंदौर मंडी के करीब 1500 रजिस्डर्ड कारोबारी भी  दीपाली को कारोबार में पूरा सहयोग करते हैं। जिसके चलते आज इस फर्म का सालाना टर्नओवर 60 करोड़ रुपए का हो चूका है ।

इसे पढ़े  : चाणक्य के अनमोल वचन

इतना ही नहीं कारोबार के साथ-साथ दीपाली खेल-खुद में भी काफी आगे है । आपको बता दे की दीपाली सिंह बॉस्केटवाल और हैडबाल में नेशनल चैपिंयन रह चुकी हैं। इसके अलावा वह स्‍टेट लेवल पर खेल चुकी हैं।...

loading...