शहीद भगत सिंह के अनमोल वचन (Inspirational quotes of Bhagat Singh) | Gyan Ki Dukan

अगर भारत में कभी शहीदों का नाम लिया जाता है तो उसमे "शहीद भगत सिंह" का नाम सबसे पहले आता है जो मात्र 23 वर्ष की आयु में देश के लिए अपनी जान दे दी |

शहीद भगत सिंह के अनमोल वचन (Inspirational quotes of Bhagat Singh) | Gyan Ki Dukan

अगर भारत में कभी शहीदों का नाम लिया जाता है तो उसमे "शहीद भगत सिंह" का नाम सबसे पहले आता है जो मात्र 23 वर्ष की आयु में देश के लिए अपनी जान दे दी |
भगत सिंह का जन्म 28 सितम्बर ,1907 , बंगा, पाकिस्तान में हुआ | उनके पिता का नाम सरदार किशन सिंह और माता का नाम विद्यावती कौर था। उनका परिवार सिख था | अमृतसर में 13 अप्रैल 1919 को हुए जलियाँवाला बाग हत्याकाण्ड ने भगत सिंह की सोच पर गहरा प्रभाव डाला था। जिसकी वजह से लाहौर के नेशनल कॉलेज़ की पढ़ाई छोड़कर भगत सिंह ने भारत की आज़ादी के लिये नौजवान भारत सभा की स्थापना की थी। भारत में वह सभी नौजवानों के लिए एक युथ आइकॉन थे, जो उन्हें देश की आजादी के लिए प्रोत्साहित करते |

भगत सिंह ने देश की आज़ादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया, वह भुलाया नहीं जा सकता। अंग्रेज इनसे इतना परेशान हो गए की उन्होंने भगत सिंह और उनके साथियों , राजगुरु और सुखदेव के साथ 23 मार्च 1931 को फांसी दे दी |

पर तब तक बहुत देर हो गई थी भारत में आजादी की लेहेर दौड़ रही थी और ये भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के बलिदान का ही परिणाम था की 15 अगस्त 1947 में  भारत को आज़ादी मिली |

भगत सिंह का पूरा जीवन संघर्ष से भरा था | उनका जीवन आज के नौजवानो के लिए एक प्ररेणा है और उनकी कहे हुए अनमोल वचन हमारे बीच ज़िंदा है |  

ज़िन्दगी तो अपने दम पर ही जी जाती हे … दूसरो के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं 

Quotes

loading...