ये है दिल्ली का जिगोलो मार्केट, जहाँ मर्द नहीं औरते लगाती है मर्दो के जिस्म की बोली. | Gigolo market in Delhi

आपको जानकार हैरानी होगी की भारत के कई बड़े शहरों में बड़ी तेजी से फेल रहा है मर्दों के जिस्म का कारोबार । आज हम आपको बताएंगे इन जिगोलो से जुड़ी कुछ ख़ास बाते जो आपको जिन्हे पढ़कर आप भी हैरान हो जाएंगे ।

“जिगोलो मार्केट” ये मार्किट और कही नहीं बल्कि भारत की राजधानी में दिल्ली में हर रात सजती है । ये मार्किट की दिल्ली के कई  प्रमुख इलाकों जैसे सरोजनी नगर, लाजपत नगर, पालिका मार्किट तथा कमला नगर मार्किट में लगती है , जहाँ मर्दों की जिस्म फरोशी के लिए दिल्ली के बड़े परिवारों की औरते, लड़कियां यहाँ आती हैं और मनपसन्द मर्दों पर अपनी बोली लगाती हैं।

ऐसा नहीं की लड़कियों की तरह इन्हे भी इस जिस्म फरोशी के दलदल में धकेला जाता है बल्कि दिल्ली के युवक अपने जिस्म की खरीद फरोख्त करने के लिए खुद जाते है । जब देश की राजधानी में शाम होती ही भीड़ भाड कम हो जाती हैं तब पुरुषों के इस बाजार में रौनक शुरु होती हैं। इसमें हैरानी वाली बात ये है की इन पुरुषो को खरीदने वाली कोई आम घर की महिलाए या लड़कियों नहीं होती बल्कि जिन्हे हम सभ्य परिवार के कहते है वो होती है ।

जैसा हमने बताया की इन मार्किट में बिकने के लिए तैयार इन मर्दों को ‘जिगोलो’ कहा जाता हैं और इनकी खरीद फरोख्त इतनी बड़े पैमाने पर होती है जितना हम सोच भी नहीं सकते । कुछ सूत्रों के मुताबिक इस मार्किट में जिगोलो की बुकिंग तक़रीबन 1800 रूपये से लेकर 3000 हजार रूपये के बीच होती है ये रेट सिर्फ कुछ घंटे के लिए है अगर कोई महिला किसी जिगोलो को पूरी रात के लिए बुक करती है तो उसे तक़रीबन 8000 तक देना होता हैं। अगर कोई महिला किसी जिगोलो को शहर से बाहर ले जाना चाहती है तो उसे इसके लिए अधिक चार्ज देना होता है । इन सबसे पहले उस महिला और जिगोलो के बीच संबंध खत्म होने के बाद एक दूसरे को न पहचानने की शर्त तय होती है ।

आपको ये जानकार काफी हैरानी होगी की जो लोग जिगोलो बनते है उनमे से ज़्यादातर पढ़े-लिखे होते है , जिनके पास इंजीनियरिंग और मेडिकल जैसी डिग्रियां होती है । जिगोलो की इतनी डिमांड को देखते हुए भारत में कई ऐसे ऑर्गनाइजेशन खुल गई है जो इन जिगोलो की ट्रेनिंग देती है, "जिसमे इन्हे महिलाओं से कैसे बात की जाए", "उन्हें किस तरह से संतुष्ट किया जाए" इन सब के बारे में बताया जाता है ।

इन जगहों पर तो आम व्यक्ति भी खड़ा हो सकता है, तो ये महिलाए कैसे पहचानती है की जिगोलो कौन है ?

आपको बता दे की जिगोलो का एक ख़ास ड्रेस कोड होता है जैसे गले में रूमाल या पट्टा । महिलाओ को इन ड्रेस कोड के बारे में पहले ही बता दिया जाता है । जब भी ये महिलाए उन इलाको से होकर गुजरती है तो इन ड्रेस कोड को देखकर वो समझ जाती है की जिगोलो कौन है ।

india gigolo Delhi gigolo gigolo market mens prostitute women

loading...