भारत के 8 सबसे खुखार अपराधी, जिन्होंने अपने अपराधों से भारत को हिला दिया था |

8 most wanted criminal in indian history: 60 से 90 का दशक भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण रहा है | जहाँ इस दशक में भारत तेजी से बदल रहा था और आगे बढ़ रहा था तो इसी बीच कुछ ऐसी चीज़े भी हुई जिससे लोग डरे हुए थे और ये डर था डाकुओ , गैंगस्टर और सीरियल किलर्स का | इनमे से लोगो को सबसे ज़्यादा डर लगता था "सीरियल किलर्स" से | डाकु , गैंगस्टर तो पैसो के लिए खून करते थे पर "सीरियल किलर्स" तो सिर्फ अपनी सनक के लिए खून करते थे | कौन थे ये ?

3. फूलन देवी

फूलन देवी को आप शयद जानते होंगे ये भारत की सबसे पहली डकैत थी जिसके नाम से ही लोग थर-थर कापते थे |  फूलन देवी को भी मज़बूरी में हथियार उठानी पड़ी थी, इनके ऊपर काफी ज़ुल्म हुए थे | बताया जाता है की गांव के 11 लोगो ने फूलन देवी के साथ बलात्कार किया था। जिसके बाद न ही उनका साथ परिवार वालो ने दिया और न ही कानून ने | अपने साथ हुए इस ज़ुल्म का बदला लेने के लिए फूलन देवी बंदूक उठा ली और डाकू बन गई, इसके बाद उसने सबसे पहले उन लोगो को मारा जिसने उसके साथ दुष्कर्म किया था | बाद में फूलन देवी ने सरकार के सामने आत्मसमर्पण कर लिए और कुछ समय बाद राजनीती में शामिल हुई | 1996 में फूलन देवी ने मिर्जापुर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत गई। साल 2001 में एक व्यक्ति जिसका नाम शेरसिंह राणा था उसने दिल्ली में फूलन देवी की उनके आवास पर गोली मारकर हत्या कर दी।

4. वीरप्पन

बड़ी-बड़ी मुछों वाला जिसे सब साउथ का रावण भी बोलते थे जी है हम बात कर रहे है चंदन की लकड़ियों के सबसे बड़े तस्कर वीरप्पन के बारे में जिसे पकड़ने के लिए कई कई पुलिस वाले और जवान शहीद हो गए |

उसने अभी तक 184 लोगों की हत्या, 200 हाथियों के शिकार, 26 लाख डॉलर के हाथीदांत की तस्करी और 2 करोड़ 20 लाख डॉलर कीमत की 10 हजार टन चंदन की लकड़ी की तस्करी की थी | कहा जाता है वीरप्पन ने अपनी छोटी बेटी की गाला दबा कर हत्या कर दी थी ताकि उसकी आवाज़ पुलिस तक न पहुंचे जो वीरप्पन को पकड़ने आई थी | इसे 18 अक्टूबर 2004 को पुलिस ने मार गिराया गया था |

loading...