ब्योमकेश बक्शी 90 के दशक का सबसे लोकपिरये जासूसी धारावाहिक

जिस दौर में शर्लाक होम्स जैसे जासूसों के कारनामे दुनिये में धूम मचा रहे थे उसी दौर में एक बागली जासूस ने जासूसी का एक नया रूप भारतीयों को दिखा कर सब को अपना दीवाना बना लिया

ब्योमकेश बक्शी 90 के दशक का सबसे लोकपिरये जासूसी धारावाहिक

जिस दौर में शर्लाक होम्स जैसे जासूसों के कारनामे दुनिये में धूम मचा रहे थे उसी दौर में एक बागली जासूस ने जासूसी का एक नया रूप भारतीयों को दिखा कर सब को अपना दीवाना बना लिया

ब्योमकेश बक्शी 90 के दशक का सबसे लोकपिरये जासूसी धारावाहिक 

भारतीय टीवी के इतिहास में 90 के दशक बहुत महत्वपूर्ण है ! ये दौर नित नए बदलाव का दौर था साथ ही साथ ये दशक में प्राइवेट चैनल और सेटेलाइट चैनल की शुरआत का दौर भी था ! इसी दौर में चंद्रकांता जैसा धारावाहिक आया जिसमे दो राज घरानो की दुश्मनी एक राजकुमारी का प्रेम  दिखाया गया जिसने लोगो का मन मोह लिया ! और धारावाहिको में हम पांच , हिप हिप हुर्री , मैकगुडी डेज आदि शामिल थे ! ये कुछ ऐसे धारवाहिक थे जो लोग के मन में सालो थे बने रहे ! इसी दौर में एक जासूसी धरावाहिक बहुत लोकपिरये हुआ जिसका नाम था ब्योमकेश बक्शी ! इस धारावाहिक का प्रसारण डि डि नेशनल चैनल पर हुआ था ! 

ब्योमकेश बक्शी (Byomkesh Bakshi TV series ) एक परिचय !

ब्योमकेश बक्शी हिंदी का पहला धारावाहिक था जो ब्योमकेश बक्शी चरित्र पर बनाया गया था जिसके लेखक थे शरदिंदु बंद्योपाध्याय . इस धारावाहिक में राजित कपूर और के.के. रैना मुख भमिका में थे  ! राजित कपूर ब्योमकेश बक्शी का किरदार निभा रहे थे और के.के. रैना अजित कुमार बनर्जी का ! इन कलाकारों ने इस पत्रों जैसे ज़िंदा कर दिया था लोग इसे बहुत पसंद कर रहे थे ! ये धारावाहिक इतना लोकपिरये हुआ की इसका दूसरे चरण का प्रसारण साल 1997 में फिर से किया गया !

ब्योमकेश बक्शी के रचिता शरदिंदु बंद्योपाध्याय का परिचय 

शरदिंदु बंद्योपाध्याय एक बंगाली लेखक थे ! उनका जन्म जौनपुर उत्तरप्रदेश में हुआ था ! उनका सम्बन्ध बंगाली सिनेमा और बॉलीवुड से भी रहा है ! उसका सबसे लोखपिरये लिखन जासूसी नॉवेल ब्योमकेश बक्शी रहा जिसने उन्हें बहुत लोकपिर्यता दी! ब्योमकेश बक्शी के अलावा भी उन्हीने बहुत सी कहानी और नॉवेल लिखा ! उन्होंने बहुत से इतिहासिक उपन्यास भी लिखे जिनमे Kaler Mandira, GourMollar (initially named as Mouri Nodir Teere), Tumi Sandhyar Megh, Tungabhadrar Teere , Chuya-Chandan, Maru O Sangha आदि शामिल हैं ! 

धारावाहिक का संक्षिप परिचय  

ब्योमकेश बक्शी एक बंगाली जासूस है जो पेचीदा केस सुलझता है जिसमे उसका साथ देता है उसका सहयोगी अजित बंद्योपाध्याय. ब्योमकेश बक्शी अपने आप को सत्यान्वेषी कहता है जिसमे मतलब होता है 'सच की खोज करने वाला ' अर्थात ब्योमकेश बक्शी सिर्फ एक जासूस नहीं है बल्कि एक ऐसा जासूस है जो सच को खोज निकलता है ! ब्योमकेश बक्शी दूसरे विख्यात जौसुसो जैसे पोइरोट और होल्म्स की तरह नहीं है जो किसी केस में साबुत खोज निकलते हैं ! ब्योमकेश बक्शी एक ऐसा जासूस है सबूतों से ज़्यदा सच की तलाश में रहता है सच सामने लेन के उसके अपने तरीके हैं ! वो अपने सूझ बुझ से ऐसे केस में भी सच निकल लेता है जिसमे कोई साबुत न मिल रहे हो उसके ये कारनामे बालक जासूस, रेट का दलदल आदि में देखे जा सकते हैं ! 

## कलाकार परिचय ##

राजित कपूर => ब्योमकेश बक्शी 
K.K. रैना => अजित कुमार बनर्जी
सुकन्या कुलकर्णी =>  सत्यवती 
कार्तिक दत्ता => पुन्ति राम

## प्रसारण ##

पहले सीजन का प्रसारण साल 1993 में डी डी नेशनल पर हुआ 
दूसरे सीजन का प्रसारण साल 1997 में डी डी नेशनल पर हुआ 

## सीजन 1 में टेलीकास्ट हुए एपिसोड ##

सत्यान्वेषी
रस्ते का कांटा
सीमान्त हीरा
मकड़ी का रास
वसीयत
रेट का दलदल
लाल नीलम
भूत
अग्निवाण
उपसंहार
तस्वीर चोर
किले का रहस्य
चिडयाघर - भाग 1
चिडयाघर - भाग २

## सीजन 2 में टेलीकास्ट हुए एपिसोड ##

आदिम शत्रु  - भाग 1
आदिम शत्रु  - भाग 2
आग और पतंगा
वंश का खून
नेकलेस
अमृत की मौत
पहाड़ी रहस्य
अनजान खुनी
कहीं कवी कालिदास
अदृस्य त्रिकोण
वसीयत का रहस्य
बेमिसाल
बालक जासूस
चाक्रान्त 
पहेली गाथा
कमरा न. 102
धोकाधड़ी
सही का कांटा 
बेनिसानघर
लोहे का बिस्कुट ----ये आखरी भाग था.

bakshi byomkesh spy

loading...