GST / गुड्स एंड सर्विस टैक्स क्या है? |

GST बिल के बारे में अक्सर न्यूज़ चैनलो पर सुना होगा पर ये है क्या आइये जानते हैं

GST / गुड्स एंड सर्विस टैक्स क्या है? |

GST बिल के बारे में अक्सर न्यूज़ चैनलो पर सुना होगा पर ये है क्या आइये जानते हैं

GST गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) क्या है 

 गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) एक तरह का वेट (टैक्स) है . जीएसटी एक ऐसा टैक्स है जिसमे वस्तुओ और सेवाओं  दोनो पर ही टैक्स लगेगा |

अभी तक सिर्फ़ टैक्स वस्तुओ पे ही लगता था | जीएसटी के लागू होने से हमे  अलग-अलग तरह का टैक्स नही देना होगा जैसे (एक्साइज टेक्स ,सर्विस टैक्स )

अगर जीएसटी बिल लागू होता है तो इससे हमे टैक्स भरने मे आसानी होगी ?

जीएसटी के तहेट हमे वस्तुओ और सेवाओं  पर 3 प्रकार के ही टैक्स जमा करने होंगे

1.  सेंट्रल जीएसटी,

2. स्टेट जीएसटी,

3. इंटरग्रेटड जीएसटी )

सेंट्रल जीएसटी और स्टेट जीएसटी जैसे हमे नाम से ही पता चल रहा की ये किस तरह के टैक्स है हम बात करते है इंटरग्रेटड जीएसटी. जब दो राज्यो के बीच कारोबार होगा तब ये टैक्स लगेगा, जिसे केंद्रिया सरकार लेगी और उसे दोनो ही राज्यो मे बराबर बाट देगी |

जीएसटी के आने से हमारे सामान तो सस्ते होंगे?

जीएसटी से जो सबसे ज़्यादा फायदा कारोबारियों को होगा वो ये की उसे पुरे देश में सिर्फ एक ही सामान का टैक्स देना होगा ! अभी तक कारोबारियों को अपने सामान को एक जगह से दूसरी जगह भेजने के लिए अतिरिक्त टैक्स देना होता है, जीएसटी के आने से उन्हें ये टैक्स नहीं देना होगा |

जीएसटी को इस तरह से समझते है

मान लीजिए आपको कोई बाइक  या कार लेनी हो तो आप देखते है की उसकी कीमत हर राज्य मे अलग-अलग होती है, दिल्ली मे अलग ओर मुंबई मे अलग पर जीएसटी के लागू होने से इनकी कीमत अलग-अलग ना होकर एक ही होगी फिर चाहे आप वो कार दिल्ली से ले या मुंबई से |
       विश्वा मे लगभग 160 देशो मे जीएसटी लागू है ओर भारत मे इसे अप्रैल मे लागू किया जाएगा |
इस माना जा रहा है की जीएसटी आने के कुछ साल महँगाई बाद सकती है, जैसा की हम बाकि देशो में देख चुके है जहाँ अभी तक जीएसटी लागु है जहाँ अभी 14.5 प्रतिशत टैक्स देना होता था पर जीएसटी के आने के बाद हमे 18 प्रतिशत टैक्स देना होगा |
                      जीएसटी के आने से भारत का उत्पाद बढेगा और जीडीपी में भी वृद्धि होगी ओर ये काले धन से निपटने के लिए एक मजबूत हथियार साबित होगा |

एक रिपोर्ट के अनुसार जीएसटी के आने से देश की जीडीपी में 1% से 2% की बढ़ोतरी होगी |
जीएसटी टैक्स के अंतर्गत कोन सी चीज़ नहीं होगी ?
शराब जैसी चीज़े पे ही जीएसटी टैक्स नहीं लगेगा |

किसको होगा नुक्सान ?

इससे नुकसान सिर्फ राज्य सरकार को होगा क्योंकि राज्य कई तरह के टैक्स वसूलता था जो की जीएसटी के आने के बाद वो नहीं वसूल कर पाएगा और उसकी कमाई काम होगी |
             राज्यो की कमाई का सबसे बड़ा हिस्सा पेट्रोलियम से आता है जो की जीएसटी के आने के बाद उसकी कमाई पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा

इस नुकसान को देखते हुए केंद्र सरकार, राज्य सरकार को इसकी 5 साल तक भरपाई करेगा |

loading...